अभिजीत बनर्जी की जीवनी (Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Biography In hindi)

0
185
Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Biography In hindi 2

अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की जीवनी (Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Biography In hindi) –

अभिजीत बनर्जी को साल 2019 का नोबेल पुरस्कार दिया गया है और ये पुरस्कार अभिजीत बनर्जी  को अर्थशास्त्र में दिए गए योगदान के लिए जा रहा है। अभिजीत बनर्जी से पहले भारतीय मूल के अमर्त्य सेन को ये अवॉर्ड मिला था और साल 1998 के बाद ये पहला मौका है जब एक बार फिर से भारतीय मूल निवास को ये अवॉर्ड दिया गया है। वहीं अभिजीत बनर्जी कौन है और उन्हें ये अवॉर्ड किस लिए दिया जा रहा है ये आप हम आपको बताने जा रहे हैं।

अभिजीत बनर्जी की जीवनी (Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Biography In hindi) –

पूरा नाम

 

अभिजीत बिनायक बनर्जी
जन्म 21 फरवरी, 1961, कोलकाता, भारत
शिक्षा

 

प्रेसीडेंसी कॉलेज, कोलकाता

कलकत्ता विश्वविद्यालय (बीए)

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (MA)

हार्वर्ड विश्वविद्यालय (पीएचडी)

पत्नी का नाम अरुंधति तुली (तलाकशुदा)

एस्तेर डफ़्लो (2015-वर्तमान)

पुरस्कार नोबेल मेमोरियल पुरस्कार (2019)
किए गए प्रसिद्ध कार्य विकास अर्थशास्त्र

 

अभिजीत बनर्जी का जन्म और परिवार (Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Famliy)

अभिजीत बनर्जी का जन्म 21 फरवरी, 1961 में कोलकाता राज्य में हुआ था। इनके माता-पिता का नाम निर्मला बनर्जी और दीपक बनर्जी हैं। इनके माता पिता भी इनकी तरह ही में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर थे। इनकी मां निर्मला सेंटर फॉर स्टडीज इन सोशल साइंसेज, कलकत्ता में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर अपनी सेवा दे चुकी हैं। जबकि इनके पिता दीपक बनर्जी कलकत्ता के प्रेसीडेंसी कॉलेज में अर्थशास्त्र विभाग के प्रमुख थे।

अभिजीत बनर्जी ने अपनी शिक्षा कोलकत्ता से ही हासिल की है। अपने 12 वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद इन्होंने  कोलकाता के प्रेसिडेंसी कॉलेज, कलकत्ता विश्वविद्यालय में दाखिला लिया था और इस कॉलेज से अर्थशास्त्र में बी.ए की डिग्री हासिल की थी। साल 1981 में अर्थशास्त्र में डिग्री हासिल करने के दो साल बाद इन्होंने यानी सन् 1983 में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में दाखिला लिया था और इस कॉलेज से अर्थशास्त्र में एम.ए की थी।

एम.ए की पढ़ाई करने के बाद इन्होंने पीएचडी की उपाधि प्राप्त की ये उपाधि इन्होंने 1988 में हार्वर्ड विश्वविद्यालय से हासिल की थी। अर्थशास्त्र में पीएचडी करने के दौरान इन्होंने ये  थीसिस लिखा था उसका विषय “सूचना अर्थशास्त्र में ” था।

अपनी पीएचडी की पढ़ाई पूरी करने के बाद इन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में बतौर प्रोफेसर अपनी सेवाएं दी थी। वहीं अब ये मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में फोर्ड फाउंडेशन इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स के प्रोफेसर के तौर पर कार्य कर रहे हैं।

अभिजीत बनर्जी की निजी जिंदगी

Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee Biography In hindi

  • अभिजीत बनर्जी की पत्नी का नाम एस्तेर डफ़्लो है और एस्तेर से इन्होंने साल 2015 में विवाह किया था। एस्तेर से पहले इनकी शादी अरुंधति तुली से हुई थी लेकिन शादी के कुछ समय बाद इन्होंने अंरुधित से तलाक ले लिया था।
  • एस्तेर डफ़्लो अभिजीत बनर्जी की छात्रा थी और अभिजीत बनर्जी  और एस्तेर डफ़्लो ने सुयक्त रुप से नोबेल पुरस्कार जीता है।

अभिजीत बनर्जी नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize Winner Abhijit Banerjee)

अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार दिया गया है और ये अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार पाने वाले दूसरे भारतीय हैं। अभिजीत बनर्जी को ये पुरस्कार सयुक्त रुप से दिया गया है और इनके साथ ये पुरस्कार एस्थर डुफलो और इनके सहकर्मी मिखाइल क्रेमेर को दिया गया है।

अभिजीत बनर्जी से जुड़ी अन्य जानकारी –

  • अभिजीत बनर्जी ने साल 2019 में भारत में हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी का घोषणापत्र तैयार करने में मदद की थी और गरीबी उन्मूलन से जुड़ी योजना बनाने में अहम भूमिका निभाई थी।
  • अभिजीत द्वारा जगरनॉट किताब लिखी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here