झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जीवनी (hemant soren biography in hindi)

0
57

हेमंत सोरेन (Chief Minister of Jharkhand Hemant Soren) एक भारतीय राजनेता हैं जो कि लंबे समय से झारखंड राज्य की राजनीति से जुड़े हुए हैं। हाल ही में इस राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन की पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया है और हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री बने हैं। साल 2019 के विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन की पार्टी 81 विधानसभा सीटों में से 30 पर अपना कब्जा जमाने में कामयाब हुए हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कौन हैं और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जीवनी (hemant soren biography in hindi) इस प्रकार है।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जीवनी (hemant soren biography in hindi)

पूरा नाम (Full Name)

 

हेमंत सोरेन
जन्म (Birth)

 

10 अगस्त 1975,) नेमारा, राजगढ़ जिला झारखण्ड

 

उम्र 44 साल
पेशा (Profession) राजनीति
पद झारखण्ड राज्य के 11 वें मुख्यमंत्री
पार्टि का नाम झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (JMM
जाति (Caste) ST
धर्म (Religion) हिन्दू
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification) स्कूल पास
पत्नी का नाम कल्पना सोरेन
पिता का नाम शिबू सोरेन
माता का नाम रुपी सोरेन
भाई का नाम और बहन का नाम दुर्गा सोरेन,   बसंत सोरेन और अंजलि सोरेन

हेमंत सोरेन का परिवार

हेमन्त सोरेन का जन्म 10 अगस्त 1975 में झारखंड के रामगढ़ जिले के नेमरा गांव में हुआ था। इनके पिता शिबू सोरेन भी एक राजनेता था और इस राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भी थे।

हेमंत के दो भाई और एक बहन भी हैं। इन्होंने अपनी इंटरमीडिएटल तक की शिक्षा पटना हाई स्कूल से हासिल की है। ऐसा कहा जाता है कि इन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने केलिए  बीआईटी मेसरा, रांची में दाखिला लिया। लेकिन किन्हीं कारणों के चलते इन्हें अपनी ये पढ़ाई बीच में ही छोड़ने पड़ी।

हेमंत सोरेन की पत्नी का नाम कल्पना है और इस विवाह से इन्हें दो बेटे भी हैं। हेमंत सोरेन अपने परिवार के संग झारखण्ड राज्य में ही रहा करते हैं।

हेमंत सोरेन का राजनीतिक करियर

हेमन्त सोरेन कई सालों से राजनीति से जुड़े हुए हैं और इनका नाता झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) पार्टी है। इन्हें अपने राजनीति करियर को साल 2009 में शुरु किया था और उस दौरान इन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा था और इस चुनाव को जीता था। इसके अलावा ये 24 जून 2009 से 4 जनवरी 2010 तक ये राज्यसभा के सदस्य भी रहे हैं।

हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री

हेमंत सोरेन पहली बार 15 जुलाई 2013 को झारखंड के मुख्यमंत्री बनें थे और ये इस राज्य के पांचवें मुख्यमंत्री थे।  हालांकि इनका कार्यकाल ज्यादा लंबा नहीं था और कांग्रेस पार्टी की और से समर्थन छीन लेने के कारण इनकी सरकार एक साल के अंदर गिर गई थी। जिसके कारण इन्हें 28 दिसंबर 2014 को झारखंड के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

दोबारा बने झारखंड के मुख्यमंत्री (Chief Minister of Jharkhand Hemant Soren)

साल 2019 के विधानसभा चुनाव में मिली शानदार जीत के बाद हेमंत सोरेन दोबारा से झारखंड के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं और ये इस राज्य के 11 वें मुख्यमंत्री के तौर पर 29 दिसंबर को शपथ लेने जा रहे हैं। कार्यक्रम के अनुसार ये दोपहर दो बजे मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इनका शपथ ग्रहण कार्यक्रम रांची के मोरहाबादी मैदान में होगा और इनके साथ पार्टि के अन्य नेता भी अपने पद की शपथ ग्रहण करेंगे।

हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन एक जानेमाने राजनेता है और हेमंत सोरेन ने अपने पिता शिबू सोरेन से ही राजनीति कैसे की जाती है ये सीखी है। शिबू सोरेन लंबे समय से झारखंड राज्य की राजनीति से जुड़े हुए थे और ये झारखंड राज्य के तीसरे मुख्यमंत्री भी रहे चुके हैं। शिबू सोरेन से विरासत में मिली राजनीति को हेमंत सोरेन ने खूब अच्छे से संभाला है और अपनी मेहनत की दम पर आज अपनी पार्टी को इतनी ऊंचाई में पहुंचाया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here