गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi

0
157

गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi: गुरु नानक देव जी के सिख धर्म से जुड़े हुए हैं और ये इस धर्म के प्रथम गुरू हैं। इतना ही नहीं गुरु नानक देव जी द्वारा ही इस धर्म की स्थापना की गई थी। हर साल सिख सुमदाय द्वारा कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन प्रकाश पर्व मनाया जाता है। दरअसल कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही गुरू नानक देव जी का जन्म हुआ था और हर साल धूम धाम से इनका जन्म दिवस पूरे देश में मनाया जाता है। गुरू नानक जंयती के दिन गुरुद्वारों को खासा तौर से सजाया जाता है और इस धर्म के लोग गुरुद्वारे जाकर अपना माथा टकते हैं। इस साल गुरु नानक देव की 550वीं जयंती मनाई जा रही है। वहीं गुरु नानक देव जी कौन थे और इन्होंने सिख धर्म की स्थापना कैसे की आज हम आपको ये बताने जा रहे हैं।

गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi

पूरा नाम नानक
जन्म 15 अप्रैल 1469, ननकाना साहिब, पंजाब, पाकिस्तान)
निधन 22 सितंबर 1539, करतारपुर, पाकिस्तान
विश्राम स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब करतार पुर, करतारपुर, पाकिस्तान
माता-पिता कल्याण चंद दास बेदी (मेहता कालू) और माता तृप्ता
पत्नी का नाम माता सुलक्खनी
बच्चों के नाम श्री चंद, लखमी दास
किए गए प्रसिद्ध कार्य सिख धर्म के संस्थापक के लिए जाना जाता है
धर्म सिख धर्म
गुरु नानक जयंती 2019 तारीख (guru nanak dev ji 550 birthday) 12 नवंबर
गुरु नानक जयंती 2020 तारीख (guru nanak dev ji 551 birthday) 30 नवंबर
गुरु नानक जयंती 2021 तारीख (guru nanak dev ji 552 birthday) 19 नवंबर
उत्तराधिकारी गुरु अंगद

 

गुरु नानक देव जी का जीवनी परिचय (Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi)

ननकाना साहिब का जन्म पाकिस्तान में हुआ था और इनका जन्म स्थान तलवंडी नामक गांव है। जिस दिन गुरु नानक देव का जन्म हुआ था उस दिन कार्तिकी पूर्णिमा थी। वैसे तो इनकी जन्म तारीख 15 अप्रैल, 1469 मानी जाती है हैं। मगर  कार्तिक मास में आनी वाली पूर्णिमा को ही इनका जन्मदिवस हर साल मनाया जाता है और ये पूर्णिमा हर साल  दीवाली के 15 दिन बाद आती है।

गुरु नानक देव जी का परिवार

गुरु नानक देव जी के परिवार में उनकी मां तृप्ता देवी, पिता मेहता कालू और एक बड़ी बहन थी जिनका नाम नानकी था। इनके पिता तलवंडी में ही एक स्थानीय पटवारी के तौर पर कार्य किया करते थे। नानक देव अपनी बहन नानकी जो उनसे पांच साल बड़ी थी उनसे बेहद ही प्यार करते थे और जब उनकी बहन नानकी का विवाह कर दिया गया तो नानक देव भी उनसे साथ ही रहने लग गए थे।

नानक देव जी का विवाह मल्ल चंद और चंदो राय की बेटी माता सुलक्खनी से  24 सितंबर 1487 में हुआ। इस विवाह से इन्हें दो बेटे हुए थे जिनका नाम श्री चंद (8 सितंबर 1494 – 13 जनवरी 1629) और लखमी चंद (12 फरवरी 1497 – 9 अप्रैल 1555) था।

की सिख धर्म की शुरूआत

गुरु नानक देव जी द्वारा ही सिख धर्म की स्थापना की गई थी और ये इस धर्म के प्रथम गुरू थे। गुरु नानक देव जी ने 15 वीं शताब्दी के दौरान सिख धर्म की स्थापना की थी। सिख धर्म हमें मानव जाति की एकता, निस्वार्थ सेवा, सामाजिक न्याय,  एक गृहस्थ जीवन जीते हुए ईमानदार आचरण और आजीविका का ज्ञान देते है।

गुरु नानक देव जी का माना था कि लोगों को भगवान की मूर्ति की पूजा नहीं बल्कि भगवान के नाम का जाप करना चाहिए। सब लोगों का मालिक एक है और लोगों को मिल जुलकर रहना चाहिए।

गुरू नानक जी का निधन

गुरु नानक का निधन 70 वर्ष की आयु में हुआ था और इन्होंने 22 सितंबर 1539 को करतारपुर में अपने जीवन की अंतिम सांस ली थी। करतारपुर में ही गुरुद्वारा दरबार साहिब बनाया गया है और इसी स्थान पर गुरु नानक की मृत्यु हुई थी।

गुरू नानक जी से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी –

  • गुरु नानक जी के बाद भाई लेहना को उत्तराधिकारी बनाया गया था और लेहना जी ने अपना नाम बदलकर गुरु अंगद रख लिया था। जिसका अर्थ है “किसी का अपना” या “आप का हिस्सा” होना होता है।
  • तलवंडी का नाम आगे चलकर नानक के नाम पर ननकाना पड़ गया। इनकी बहन का नाम नानकी था।

गुरु नानक देव जयंती 2019 (guru nanak dev ji birthday 2019)

इस साल गुरु नानक देव जयंती 12 नवबंर के दिन आ रही है और इस दिन को लेकर गुरुद्वारों को खासा सजाया गया है। इस दिन को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाया जाता है। वहीं इस साल गुरु नानक की 550 जयंती हैं।

Happy Guru Nanak Jayanti Wishes Images (गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं) –

 

Happy Guru Nanak Jayanti Wishes Images (गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं)

 

Happy Guru Nanak Jayanti Wishes Images (गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं)

 

Happy Guru Nanak Jayanti Wishes Images (गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here