भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर की जीवनी ( Foreign Minister S Jaishankar biography In hindi)

0
751
s jaishankar biography in hindi
s jaishankar biography in hindi

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर की जीवनी ( Foreign Ministe S Jaishankar biography In hindi) : एस जयशंकर को हमारे देश के विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है और ये हमारे देश के नए विदेश मंत्री बन गए हैं. इन्होंने अपने मंत्री पद की शपथ कल ग्रहण की थी जिसके बाद से इनको विदेश मंत्रालय दिए जाने की अटकलें लगाई जा रही थी और ये अटकलें सही साबित हुई और ये भारत के नए विदेश मंत्री बनाए गए हैं. ये साल 2019- 2024 तक इस पद पर अपनी सेवाएं देने वाले हैं.

भारत के विदेश मंत्री बनने से पहले इन्होंने 5 सालों तक भारतीय विदेश सचिव के तौर पर कार्य किया है. इनको नरेंद्र मोदी का करीबी माना जाता है और ये अंतर्राष्ट्रीय मुद्दे के एक्सपर्ट भी हैं. इन्होंने कई देशों में बतौर राजनयिक के रूप में कार्य भी किया हुआ है और इनको भारत सरकार की और से पद्म श्री भी मिला रखा है, जो कि साल 2019 में इन्हें दिया गया था.

विदेश मंत्री एस जयशंकरका जीवनी परिचय ( Minister of External Affairs S Jaishankar biography In hindi)

पूरा नाम (Full Name)        सुब्रह्मण्यम जयशंकर
जन्म तिथि (Birth Date) 15 जनवरी 1955 (आयु 64)
जन्म स्थान (Birth Place) नई दिल्ली भारत
पेशा (Professions) भारत के विदेश मंत्री
राष्ट्रीयता (Nationality) भारतीय
धर्म (Religion) हिंदू
पिता का नाम (Father’s Name) के. सुब्रह्मण्यम
माता का नाम (Mother’s Name) सुलोचना
पत्नी का नाम क्योको जयशंकार

 

एस जयशंकर का जन्म और परिवार (S Jaishankar Birth And Family)

  • एस जयशंकर का जन्म दिल्ली में हुआ था और इनके पिता के. सुब्रह्मण्यम भारतीय रणनीतिक मामलों के विश्लेषक, कमेंटेटर और सिविल सेवक हुआ करते थे.
  • इनकी मां का नाम सुलोचना है और इनकी पत्नी का नाम क्योको जयशंका है. एस जयशंकर के कुल तीन बच्चे हैं जिनके नाम, ध्रुव जयशंकर, अर्जुन जयशंकर और मेधा जयशंकर है.

एस जयशंकर की शिक्षा (S Jaishankar Education)

  • एस जयशंकर ने अपनी प्रांरभिक शिक्षा दिल्ली से ही हासिल की है और इन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से राजनीति विज्ञान में एमए की है. जबकि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से इन्होंने अंतरराष्ट्रीय संबंधों में एमफिल और पीएचडी की डिग्री हासिल की है.
  • अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद एस जयशंकर ने भारतीय सिविल परीक्षा दी थी और ये साल  1977 में भारतीय विदेश सेवा में शामिल हुए थे. इन्होंने बतौर राजनयिक कई देशों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है और ये सिंगापुर में उच्चायुक्त, चीन में राजदूत और संयुक्त राज्य अमेरिका में भी भारतीय राजदूत रहे हैं.

भारत के विदेश सचिव

साल 2014 में मोदी की सरकार बनने पर इन्हें भारत का विदेश सचिव बनाया गया था और पांच सालों तक इन्होंने इस पद में अपनी सेवाएं दी थी. इस दौरान इन्होंने मोदी की विदेश यात्रा की नीति बनाई थी. सितंबर 2014 में प्रधानमंत्री मोदी जब प्रथम बार अमेरिका दौरे पर गए थे तो उस दौरान इन्होंने ही इस दौरे की नीति को तैयार किया था.

बनें भारत के विदेश मंत्री ( Minister of External Affairs S Jaishankar)

एस जयशंकर को साल 2019 में भारत का विदेश मंत्री बनाया गया है और ये पांच सालों तक इस पद पर अपनी सेवाएं देने जा रहे हैं. एस जयशंकर द्वारा जो सेवाएं बतौर विदेश सचिव के तौर पर दी गई उनसे खुश होकर इन्हें मोदी की कैबेनिट में जगह दी गई है और इनके अनुभव को देखते हुए इन्हें हमारे देश का विदेश मंत्री बनाया गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here