बुरांश के फायदे, लाभ, उपयोग (buransh juice benefits)

0
26
buransh juice benefits
buransh juice benefits

बुरांस (buransh) एक औषधीय पौधा है। बुरांस (buransh) को कई नामों से जाना जाता है और इसे “बराह” भी कहा जाता है। बुरांस (buransh) का वैज्ञानिक नाम रहोडोडेंड्रन (Rhododendran) है और ये पौधा पहाड़ी इलाकों में पाया जाता है। बुरांस के फायदे ( Buransh Flower) इस पौधे को विशेष पौधा बनाते हैं। बुरांस का पौधा कैसा दिखता है, इसमें पाए जाने वाले गुण, बुरांस के जूस के फायदे (buransh juice benefits) क्या हैं वो इस प्रकार है।

बुरांस का पौधा ( Buransh Plant In Hindi)

बुरांस का पौधा सामान्य पौधों की तरह ही होता है। बुरांस (Buransh or Rhododendran) के पौधे का प्रयोग कई वर्षों से औषध के रुप में किया जा रहा है। ये पौधा हिमाचल प्रदेश में अधिक पाया जाता है। इस पौधे की कई सारी प्रजातियां होती हैं। बुरांस के पौधे में लाल रंग के फूल लगते हैं और पेड़ की लंबाई 1500 से 3600 तक होती है। बुरांस पौधे की पत्तियां मोटी होती हैं। इस पौधे में खिलने वाले फूलों में ही औषधियां गुण पाए जाते हैं। बुरांस के फूल मार्च-अप्रैल के महीने में खिलते हैं। भारत के अलावा बुरांस का पोड़ भूटान, नेपाल, म्यंनमार, श्रीलंका, पाकिस्तान, थाईलैंड और अन्य एशियां देशों में पाया जाता है।

बुरांस की प्रजातियां

विश्व भर में बुरांस की 300 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं। बुरांस के पेड़ पर लाल रंग के अलावा गुलाबी और सफेद रंग के फूल खिलते हैं। बुरांस नेपाल का राष्ट्रीय फूल भी है और इस देश में इस लाल गुरांस के नाम से जाना जाता है।

बुरासं के फायदे (Health Benifits of Buransh flowers) –

  • बुरांस डायबीटीज का स्तर शरीर में सही बनाए रखते हैं। इसलिए डायबीटीज के मरीजों के लिए बुरांस फूल उत्तम माने जाते हैं। बुरांस का रस पीने से शुगर का स्तर शरीर में नहीं बढ़ता है। दरअस बुरांस के फलों में मीथेनाॅल होता है जो कि मधुमेह को बढ़ने नहीं देता है।
  • बुरांस के फूल दिल के लिए भी लाभकारी होते हैं और इन फूलों का रस ( Buransh Flower Juice) पीने से दिस सेहतमंद रहता है।
  • बुरांस के फायदे लिवर के साथ भी जुड़े हुए हैं और इसका फूल लिवर को स्वस्थ बनाए रखता है।
  • ब्लड सर्कुलेशन को नियमित रखता में भी ये पौधा लाभकारी माना जाता है
  • हायपरटेंशन से ग्रस्त लोग बुरांस रस पीया करें। बुरांस के फूलों का रस पीने से टेंशन खत्म हो जाती है।
  • डायरिया यानी दस्त लगने में अगर बुरांस का रस पीया जाए तो दस्त से लाभ पहुंचता है और दस्त की बीमारी सही हो जाती है।
  • गर्मी के मौसम में बुरांस के फूल (burans flower) का रस पीने से लू से शरीर की रक्षा होती है और लू नहीं लग पाती है।
  • बुरांस के फल खून की कमी को भी पूरा कर देते हैं। शरीर में खून की कमी होने पर बुरांस के फूलों का रस पी लें। इसके फूल में आयरन पाया जाता है जो कि खून की कमी को पूरा कर देता है।
  • एलर्जी होने पर बुरांस के फूल का रस पीना लाभकारी होता है और इसका रस पीने से एलर्जी दूर हो जाती है और खुजली से आराम मिल जाता है।
  • बुरांस के फायदे हड्डियों के साथ भी हैं। बुरांस का रस पीने से हड्डियां कमजोर नहीं होती हैं। दरअसल इस फूल में कैल्शियम पाया जाता है और कैल्शियम हड्डियों के लिए जरूरी होता है।

कैसे करें बुरांस के फूलों का रस तैयार (buransh रस लाभ) How to Use Buransh in Hindi

बुरांस के फूलों (burans flower) का रस तैयार करना बेहद ही सरल है। आप इसके फूल लेकर उन्हें अच्छे से धो लें और फिर धूप में इन्हें सूखा दें। इन फूलों के अच्छे से सूखने के बाद आप इन्हें पानी में डालकर उबाल लें। रस बनकर तैयार हो जाएगा। आप इस रस में चीनी भी डाल सकते हैं। वहीं रस पीने की जगह आप चाहें तो बुरांस के फूलों ( Buransh Flower Juice) का पाउडर भी बनाकर खा सकते हैं। बुरांस के फूलों का पाउडर इसके फूलों को सूख लें और फिर उन्हें पीस कर पाउडर तैयार कर लें। इस पाउडर को डब्बे के अंदर डालकर रख दें और रोज एक चमम्च बुरांस का पाउडर पानी के साथ लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here